संदेश

December, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने डॉ. एस. एस. अग्रवाल को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष पद की शपथ दिलाई

चित्र
नई दिल्ली। देश विदेश के लगभग 1000 प्रतिष्ठित चिकित्सकों, राजनेताओं, अधिकारियों एवं गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति  में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे. पी. नड्डा ने डॉ. एस. एस. अग्रवाल को  इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष पद की शपथ दिलाई। डॉ. अग्रवाल आईएमए  के 87वें अध्यक्ष बने हैं। शपथ ग्रहण का यह कार्यक्रम  नई  दिल्ली के होटल ली मेरिडियन में आयोजित हुआ।  यह पहला अवसर होगा जब राजस्थान के एक चिकित्सक के सिर पर भारत की प्रतिष्ठित संस्था इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष पद का ताज बंधा है। राजस्थानवासियों के लिए यह गौरव की खबर है। गठजोड़ एवं सचिवालय रिपोर्टर परिवार की ओर से डॉ. एस. एस. अग्रवाल को बहुत बहुत बधाई।

मुख्यमंत्री वसुंधराराजे ने प्रदेश में किया सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का शुभारम्भ

×éØ×¢˜æè Ùð ç·¤Øæ çß·¤æâ ÂýÎàæüÙè ·¤æ ©UÎ÷ƒææÅUÙ ÁØÂéÚU, vx çÎâÕÚUÐ ×éØ×¢˜æè Ÿæè×Ìè ßâé‹ŠæÚUæ ÚUæÁð Ùð ÚUçßßæÚU ·¤æð °â°×°â §‹ßðSÅU×ð¢ÅU »ýæ©U‡ÇU ×ð¢ âê¿Ùæ °ß¢ ÁÙâÂ·¤ü çßÖæ» mæÚUæ ÚUæ’Ø âÚU·¤æÚU ·ð¤ Îæð âæÜ ·ð¤ ·¤æØü·¤æÜ ·¤è ©UÂÜ玊æØæð¢ ÂÚU ¥æŠææçÚUÌ çß·¤æâ ÂýÎàæüÙè Óâ¿ ãUæðÌð âÂÙð-ÂêÚUð ãUæðÌð ßæÎðÓ ·¤æ ©UÎ÷ƒææÅUÙ ç·¤ØæÐ Ÿæè×Ìè ÚUæÁð Ùð âê¿Ùæ °ß¢ ÁÙâÂ·¤ü çßÖæ» mæÚUæ âÚU·¤æÚU ·¤è Îæð âæÜ ·¤è ©UÂÜ玊æØæð¢ ÂÚU Âý·¤æçàæÌ âæçãUˆØ ·¤æ çß×æð¿Ù ç·¤Øæ ¥æñÚU çßÖæ» ·ð¤ âæðàæÜ ×èçÇUØæ ŒÜðÅUȤæ×ü ·¤æð Öè ¥æçŠæ·¤æçÚU·¤ M¤Â âð Ü梿 ç·¤ØæÐ Ÿæè×Ìè ÚUæÁð ·¤ÚUèÕ °·¤ ƒæ¢ÅUð Ì·¤ ÂýÎàæüÙè ×ð¢ ÚUãUè¢ ¥æñÚU ØãUæ¢ ©U‹ãUæð¢Ùð }y SÅUæÜæð¢ ÂÚU çßçÖ‹Ù çßÖæ»æð¢ ÌÍæ â¢SÍæÙæð¢ mæÚUæ ¥æ·¤áü·¤ M¤Â âð ÂýÎçàæüÌ ç·¤Øð »Øð çß·¤æâ ·¤æØæðü¢ ·¤æð M¤ç¿Âêßü·¤ Îð¹æÐ ©U‹ãUæð¢Ùð ÂýÎàæüÙè ·¤è çßáØßSÌé, ¥æ·¤áü·¤ ÀUæØæ翘ææð¢ ÌÍæ Âý¿æÚU ·ð¤ ÂÚUÂÚUæ»Ì °ß¢ ÙßèÙ ×æŠØ×æ𢠷𤠩UÂØæð» ·¤è ÖÚUÂêÚU âÚUæãUÙæ ·¤èÐ ×éØ×¢˜æè Ùð ÂýˆØð·¤ SÅUæòÜ ÂÚU Áæ·¤ÚU âÕ¢çŠæÌ çßÖæ»æ𢠷ð¤ ×¢ç˜æØæð¢, ¥çŠæ·¤æçÚUØæ𢠥æñÚU ·¤×ü¿æçÚUØæð¢ âð çßáØßSÌé ·¤è »…

असहिष्णुता का मामला बनावटीः राजनाथ सिंह ‘ सहिष्णुता हमारी संस्कृति और परंपरा में है, हम किसी के दबाव में सहिष्णु नहीं ’

केंद्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि पिछले कुछ समय से देश में उठाया जा रहा असहिष्णुता का मामला बनावटी है । कुछ दिनों से यह बनावटी बात कही जा रही है कि देश में असहिष्णुता का माहौल है। उन्होंने असहिष्णुता की बात उठाने वालों पर कहा कि उनके द्वारा उठाया गया यह विषय आत्मघाती है। ऐसे बयानों से हमें बचना चाहिए।

गृह मंत्री मंगलवार 1.12.2015 को लोक सभा में असहिष्णुता पर हुई बहस पर वक्तव्य दे रहे थे। 

उन्होंने कहा कि असहिष्णुता का मामला अंतर्राष्ट्रीय जगत में भारत की छवि को खराब करने के लिए उठाया जा रहा है । उन्होंने इस बारे में प्रश्न करते हुए कहा कि क्या पूरे विश्व को संदेश देने की कोशिश की जा रही है कि भारत का वातावरण रहने लायक नहीं है ? क्या हम यह संदेश देना चाहते हैं कि भारत में निवेश करने के लिए दुनिया के अन्य देश यहां न आएं ? उन्होंने स्पष्ट किया कि देश परंपरा और संस्कृति के अनुसार सहिष्णु है। हम किसी के दबाव में सहिष्णु नहीं हैं। सहिष्णुता हमारी रगों में है , हमारी परंपरा में है , संस्कृति में है । यह देश सदियों से सहिष्णुता , सहयोग और अहिंसा के लिए जाना जाता रहा है और आज भी …